Advertisements

नाक की पियर्सिंग (छेदन) सम्बंधित महत्वपूर्ण टिप्स

नाक की पियर्सिंग (छेदन) सम्बंधित महत्वपूर्ण टिप्स

Advertisements

नाक की पियर्सिंग (छेदन) सम्बंधित महत्वपूर्ण टिप्स

नाक की पियर्सिंग आज के ज़माने में एक तरह का स्टाइल बन चुका है। हालाँकि ज़्यादातर पूर्वी एशिया के देशों में नाक छिंदवाना उनकी परंपरा और संस्कृति का प्रतीक माना जाता है लेकिन आज की दुनिया में ये एक फैशन स्टेटमेंट भी है। नाक की पियर्सिंग(छेदन) भले ही काफी चलन में हो,लेकिन यह प्रक्रिया काफी कष्टकारी है और इसे ठीक होने में 1 से 2 हफ्ते भी लग सकते हैं।पर जिस तरह हर मुश्किल का कोई ना कोई हल होता है उसी तरह इस पीड़ा का भी हल है।आगे हम ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में बात करेंगे जिनसे नाक की पियर्सिंग(छेदन) के फलस्वरूप होने वाला घाव जल्दी भर जाता है।

नाक छिंदवाने से पहले हमें किसी भी तरह के इन्फेक्शन से बचने के लिए ज़रूरी कदम उठाने चाहिए। सबसे पहले हमें ये ध्यान रखना चाहिए कि हम किसी ऐसे पियर्सिंग आर्टिस्ट के पास जाएं जो अपने काम में माहिर हो। किसी भी स्पा में जाकर नाक की पियर्सिंग ना करवाएं बल्कि इसके लिए किसी क्लिनिक में जाएं एवं डॉक्टर से सलाह लेकर ही इस प्रक्रिया को अंजाम दें।

पियर्सिंग(छेदन) के उपकरणों को स्टेरिलाइज़ (रोगाणुरहित करना) करें

नाक की पियर्सिंग के पहले उसमें प्रयुक्त होने वाले उपकरण जैसे सुइयों की जांच कर लें। सुइयों के साथ ही नाक में पहनने वाला छल्ला भी स्टेरिलाइज़ कर लें। बिना स्टेरिलाइज़ किये हुए उपकरणों के प्रयोग से भयंकर इन्फेक्शन की संभावना रहती है।

नाक की पियर्सिंग के दौरान ब्यूटिशियन को कुछ सुरक्षा कदम उठाने चाहिए जैसे साफ़ ग्लव्स पहनना एवं साफ़ उपकरणों का इस्तेमाल करना। यह भी ध्यान रखें कि उस ब्यूटिशियन या पियर्सिंग आर्टिस्ट के पास ज़रूरी लाइसेंस भी हो।

नाक की पियर्सिंग के बाद के कुछ नुस्खे

नाक की पियर्सिंग को पूरी तरह भरने में 8 से 10 दिन का समय लगता है। घाव को जल्दी भरने एवं किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन से बचने के लिए आपको निम्नलिखित नुस्खों का प्रयोग करना चाहिए :-

घाव को रोज़ाना साफ़ करें

रोज़ाना नहाते समय पियर्सिंग वाली जगह को अच्छे से साफ़ करें।

इन्फेक्शन से बचें

घाव को साफ़ करने के लिए किसी एंटी बैक्टीरियल दवा का प्रयोग करें। इससे इन्फेक्शन का ख़तरा कम होगा।

घाव को सावधानी से साफ़ करें

नाक के घाव को किसी कठोर वस्तु से साफ़ ना करें। नरम चीज़ें जैसे पेपर टॉवल,टिश्यू पेपर,सूती के कपडे आदि का प्रयोग करें।

पियर्सिंग के साथ छेड़छाड़ ना करें

जब घाव सूखने लगता है तब उस भाग को छूने और सहलाने की प्रवृति आमतौर पर बढ़ जाती है।बार बार नाक के उस भाग को छूने से खुद को रोकें क्योंकि इससे इन्फेक्शन का ख़तरा बढ़ सकता है।

लैवेंडर के तेल का प्रयोग करें

घाव पर लैवेंडर के तेल के प्रयोग से दर्द और सूजन से राहत मिलती है। यह आपको आराम प्रदान करता है और घाव सूखने में मदद करता है।

विटामिन बी लें

खाने में विटामिन बी एवं जिंक की मात्रा ज़्यादा लें क्योंकि इससे आपका घाव जल्दी ठीक होगा और यह इलाज का काफी अच्छा तरीका है।

घाव सूखने से पहले रिंग ना निकालें

पियर्सिंग के फलस्वरूप हुए घाव के सूखने से पहले रिंग ना निकालें। इससे नाक के सूजने या इन्फेक्टेड होने का ख़तरा रहता है।

हानिकारक चीजों को निकालें

जिस चीज़ या उपकरण से नाक को पियर्स किया गया हो उसे त्वचा से आराम से निकालें क्योंकि उसमें ऐसे पदार्थ हो सकते हैं जो त्वचा के लिए हानिकारक होते हैं।

सप्लीमेंट्स ग्रहण करें

अगर आपसे दर्द बर्दाश्त नहीं होता तो आप जिंक सप्लीमेंट या कोई अन्य पेनकिलर ले सकते हैं। इससे आपका दर्द कुछ ही मिनटों में कम हो जाएगा। आप विटामिन बी भी ले सकते हैं जिससे कि घाव तेज़ी से भरता है।

गर्माहट प्रदान करें

घाव पर किसी तरह गर्माहट प्रदान करने से भी दर्द कम होता है।

गरम तेल एवं हल्दी का नुस्खा

नाक की पियर्सिंग को जल्दी सुखाने के लिए उसपर गरम तेल एवं हल्दी का मिश्रण लगाएं। हल्दी में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जिससे घाव भरने में आसानी होती है।

Advertisements

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: